UPTET/ NVS 2019 Exam - Practice Hindi Questions Now | 9th August 2019



हिंदी भाषा TET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ CTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.TEACHERS ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।

Q1. निम्नलिखित में एक वाक्य त्रुटिपूर्ण है:
(a) संभवतः मैं रविवार को आ जाऊँगा।
(b) जीती मक्खी निगली नहीं जाती।
(c) विद्या सदेव रहने वाला धन होता है।
(d) मुझे आशंका है कि निष्पक्ष चुनाव नहीं हो पाएँगे।

Q2. निम्नलिखत में एक वाक्य शुद्ध नहीं है:
(a) उसने केवल मुझे निमंत्रित किया।
(b) सभी को देश की संस्कृति का सम्मान करना चाहिए।
(c) आपने उसे टका सा जवाब दिया।
(d) शिष्य गुरू जी के पैर में गिर पड़े।

Q3. निम्नलिखित वाक्यों में एक अशुद्ध है:
(a) उसने अपने प्राण की बाजी लगा दी थी।
(b) राम, सीता और लक्ष्मण वन को गये।
(c) उसकी आँखों से आँसू निकल पड़े।
(d) आपकी महत्ता से सभी लोग परिचित हैं।

Q4. निम्नलिखित में एक वाक्य त्रुटिपूर्ण है-
(a) निरपराधी को सजा नहीं देनी चाहिए।
(b) वह सकुशल घर पहुँच गया।
(c) मोती सीप में पलता है।
(d) व्यापारी ने पाँच कुंतल कोयला खरीदा।

Q5. निम्नलिखत वाक्यों में से एक वाक्य शुद्ध है:
(a) उसने मिष्टान्न खरीदा
(b) भोजन बहुत गरिष्ट था
(c) पन्तजी की पष्टिपूर्ति पर ‘रूपाम्बरा’ कृति भेंट में दी गयी
(d) आप तो अन्तध्र्यान हो गये।

Q6. ‘रामचरितमानस’ नामक महाकाव्य की रचना-शैली है-
(a) दोहा- चौपाई शैली
(b) बरवै शैली
(c) मसनबी शैली
(d) उपर्युक्त सभी

Q7. जो जग हित पर प्राण निछावर है कर पाता है
जिसका तन है किसी लोक हित में लग जाता।।“ निमंलिखित में यह पद क्या है?


(a) दोहा
(b)रोला
(c) बरवै
(d) हरिगीतिका

Q8. श्री गुरू चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार।
बरनौं रघुवर विमल जस, जो दायक फल चार ।।“ निमंलिखित में यह पद क्या है
?

(a) दोहा
(b) चौपाई
(c) सवैया
(d) कवित्त

Q9. अर्द्धसम मात्रिक जाति का छंद है-
(a) रोला
(b)दोहा
(c) चौपाई
(d) कुण्डलिया

Q10. चौपाई के प्रत्येक चरण में मात्राएँ होती हैं-
(a) 11
(b) 13
(c) 16
(d) 15

Solutions



S1. Ans.(c)

S2. Ans.(d)

S3. Ans.(b)

S4. Ans.(a)

S5. Ans.(a)

S6. Ans.(a)

S7. Ans.(b)

S8. Ans.(a)

S9. Ans.(b)

S10. Ans.(b)







No comments