Check Important Hindi Questions for CTET 2019



हिंदी भाषा TET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ CTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.TEACHERS ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।









Directions (1-7): निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों के लिए सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए।
यदि हम सुनने के साथ-साथ सुनाते भी हैं, अर्थात् वार्तालाप भी करते हैं तो बातें याद रहने की सम्भावना काफी अधिक रहती है। इसलिए भाषण तो हमें याद नहीं रहते, परन्तु वार्तालाप हम भलूते नहीं हैं। सुनने के लिए पुराना भूलना भी जरूरी है। बृद्धि के पास वह शक्ति है जिससे वह सूनी हुई बातों का सार निकालकर बाकी विस्तार को भुला देती है, तभी हम नई बातें सुन सकते हैं। दो कान इसलिए हैं कि सुनने को इतना कुछ है कि एक कम पड़ता है। प्रकृति ने हमें मुख एक ही दिया है इसलिए कि सुनो ज्यादा, बोलो कम। सामने वाले की बात ध्यान से सुनना एक प्रकार की गतिविधि है। सुनने की कला आज दुर्लभ होती जा रही है। शोध बताते हैं कि हम जितना सुनतें हैं, उसका मात्र 20% ही हमें याद रहता है। सुनी बातों में से तीन दिन बाद केवल 10% ही याद रहता है। इसके अलावा सुनने और समझने के बीच हमारा पूर्वाग्रह, पूर्व जानकारी, पूर्व अर्जित ज्ञान भी प्रभाव डालता है।

Q1. भाषण और वार्तालाप में क्या अन्तर है ?
भाषण में हम बोलते हैं, वार्तालाप में सुनते हैं
भाषण रोचक नहीं होता, वार्तालाप रोचक होता है
भाषण में केवल बोलना होता है, वार्तालाप में सुनना और बोलना दोनों होते हैं
भाषण लम्बा होता है, वार्तालाप संक्षिप्त होता है
Solution:
भाषण और वार्तालाप में अन्तर यह है कि-भाषण में केवल बोलना होता है जबकि वार्तालाप में बोलना और सुनना दोनों निहित होते हैं।

Q2. सुनकर समझने को कौन-सा तत्व प्रभावित करता है ?
पूर्वाग्रह
पूर्व जानकारी
पूर्व अर्जित ज्ञान
ये सभी
Solution:
सुनकर समझने को पूर्वाग्रह, पूर्व जानकारी तथा पूर्व अर्जित ज्ञान प्रभावित करते हैं।

Q3. लेखक के अनुसार क्या महत्त्वपूर्ण है ?
सुनना
ध्यान से सुनाना
ध्यान से सुनकर सारतत्व ग्रहण करना
सुनकर याद रखना
Solution:
ध्यान से सुनकर सारतत्व ग्रहण करना लेखक के अनुसार महत्त्वपूर्ण है।

Q4. ‘सुनने के लिए पुराना भूलना भी जरूरी हैं’ वाक्य है
प्रश्नवाचक
विधानवाचक
अनिश्चयात्मक
आश्चर्यबोधक
Solution:
सुनने के लिए पुराना भूलना भी आवश्यक है। यह विधानवाचक वाक्य है।

Q5. यह जड़ी-बूटी तो आज बड़ी .......... है। वाक्य के रिक्त स्थान पर शब्द आएगा
दुर्लभ
दुर्गम
दुस्तर
दुराव
Solution:
यह जड़ी-बूटी तो आज दुर्भभ है।

Q6. ‘पूर्वाग्रह’ का सन्धि-विच्छेद है
पूर्व + ग्रह
पूर्वा + ग्रह
पूर्व + आग्रह
पूरव + आ + ग्रह
Solution:
पूर्वाग्रह = पूर्व + आग्रह

Q7. इस गद्यांश में बृद्धि की कौन-सी महत्त्वपूर्ण शक्ति का उल्लेख है ?
बुद्धि सुनकर याद कर लेती है
बुद्धि सुनकर सार ग्रहण करती है
बुद्धि विस्तार को तुरन्त भूल जाती है
बुद्धि सदैव नई बातें सुनती है
Solution:
बुधि सुनकर सार ग्रहण करती है।

Q8. पठन कौशल से अभिप्राय है
लिपि-चिह्नों की पहचान
शब्दों को पढ़ना
वाक्यों को पढ़ना
पढ़कर समझना
Solution:
पठन कौशल से अभिप्राय है-पढ़कर समझना

Q9. वाइगोत्स्की ने भाषा-सीखने की प्रक्रिया में किस पर बल दिया है ?
कक्षायी अभ्यासों पर
सामाजिक अन्तःक्रिया पर
पाठ्य-पुस्तकों पर
उचित आकलन पर
Solution:
वाइगोत्स्की ने भाषा सीखने की प्रक्रिया में सामाजिक अन्तः क्रिया पर बल दिया है।

Q10. भाषा की पाठ्य-पुस्तक में ऐसे पाठ चुने जाएँ, जो
संक्षिप्त हों
प्रसिद्ध लेखकों के हों
बच्चों के संवेदना-लोक के साथी बन सकें
अनिवार्यतः मूल्यों से ओत-प्रोत हों
Solution:
भाषा की पाठ्य-पुस्तक में ऐसे पाठ चुने जाएँ जो बच्चों के संवेदना-लोक के साथी बन सकें।

               

No comments