Hindi Questions For All Teacher Exam :12th January 2019


हिंदी भाषा TET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ HTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.TEACHERS ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।




निर्देश(1-9): दिये गये गद्यांश को पढ़िए और प्रश्नो के लिए सही विकल्प का चयन कीजिए:

संसार में दो अचूक शक्तियाँ हैं- वाणी और कर्म । कुछ लोग वचन से संसार को राह दिखाते हैं और कुछ लोग कर्म से। शब्द और आचार दोनों ही महान् शक्तियाँ हैं। शब्द की महिमा अपार है। विश्व में साहित्य कला, विज्ञान, शास्त्र सब शब्द-शक्ति के प्रतीक-प्रमाण हैं। पर कोरे शब्द व्यर्थ होते हें, जिनका आचरण न हो। कर्म के बिना वचन, व्यवहार के बिना सिद्धान्त की कोई सार्थकता नहीं है। निस्सन्देह शब्द-शक्ति महान् है पर चिरस्थाई और सनातनी शक्ति तो व्यवहार है। महात्मा गाँधी ने इन दोनों की कठिन और अद्भुत साधना की थी। महात्मा जी का सम्पूर्ण जीवन उन्हीं दोनों से युक्त था। वे वाणी और व्यवहार में एक थे। जो कहते थे वही करते थे। यही उनकी महानता का रहस्य है। कस्तूरबार ने शब्द की अपेक्षा कृति की उपासना की थी, क्योंकि कृति का उत्तम व चिरस्थाई प्रभाव होता है। ‘बा’ ने कोरी शक्दिक शास्त्रीय सैद्धान्तिक शब्दावली नहीं सीखी थी। वे तो कर्म की उपासिका थीं। उनका विश्वास शब्दों की अपेक्षा कर्मों में था। वे जो कहा करती थीं, पूरा करती थीं। वे रचनात्मक कर्मों को प्रधानता देती थीं। इसी के बल पर उन्होंने अपने जीवन में सफलता प्राप्त की थी।


Q1. उपरोक्त अनुच्छेद का सर्वाधिक उपयुक्त शीर्षक होगा
(a) वाणी और कर्म
(b) निष्ठामूर्ति कस्तूरबा
(c) महात्मा गाँधी
(d) कस्तूरबा और गाँधी

Q2. प्रायः सज्जन व्यक्ति संसार को राह दिखाते हैं
(a) अपनी कार्य कुशलता से
(b) अपनी सेवा भावना से
(c) अपने कर्म एवं वाणी से
(d) प्रत्येक व्यक्ति की मदद करने की भावना से

Q3. जगत में साहित्य, कला और विज्ञान-शास्त्र
(a) शब्द-शक्ति के रूप है
(b) शब्द-शक्ति का ज्ञान कराते हैं
(c) शब्द-शक्ति का प्रामाणिक रूप हैं
(d) शब्द-शक्ति से अलग नहीं हैं

Q4. गाँधी जी की महानता यह थी कि वे
(a) जो कहते थे वही करते थे
(b) सदैव गरीबों की मदद करते थे
(c) सदैव हिंसा से अपने आप को दूर रखते थे
(d) सदैव सत्य का सहारा लेते थे

Q5. शब्द-शक्ति के महान् होते हुए भी
(a) व्यवहार ही सनातनी शक्ति है
(b) व्यवहार भी शक्तिशाली है
(c) व्यवहार भी एक शक्ति के रूप में है
(d) शब्द-शक्ति एवं व्यवहार दोनों महान् हैं

Q6. ‘प्रतीक-प्रमाण’ में प्रयुक्त समास है
(a) तत्पुरूष
(b) द्वन्द्व
(c) द्विगु
(d) बहुब्रीहि

Q7. ‘निस्सन्देह’ का सन्धि विच्छेद होगा
(a) निस् + सन्देह
(b) नि + सन्देह
(c) निः + सन्देह
(d) निस + सन्देह

Q8. शब्द ‘उपासना’ का समानार्थक शब्द होगा
(a) पूजा-अर्चना
(b) आदर
(c) व्रत
(d) अनुसरण

Q9. ‘शब्दिक’ शब्द में प्रयुक्त प्रत्यय है?
(a) एक
(b) इक
(c) ईक
(d) क

Q10. निम्न में से तत्पुरूष समास को पहचानिए-
(a) रसोईघर
(b) त्रिभुवन
(c) नवयुवक
(d) सीता-राम




 You may also like to read


No comments